Zindagi Shayari

Zindagi Shayari

अब ये न पूछना की.. ये अल्फ़ाज़ कहाँ से लाता हूँ, कुछ चुराता हूँ दर्द दूसरों के, कुछ अपनी सुनाता हूँ|

वो साथ थे तो एक लफ़्ज़ ना निकला लबों से, दूर क्या हुए कलम ने क़हर मचा दिया..!!

उस मोड़ से शुरू करें चलो फिर से जिंदगी हर शय हो जहाँ नई सीऔर हम हो अज़नबी

कभी वादे के नाम पर, कभी सौदे के नाम पर, हम बेचे जाते हैं आज भी, मोहब्बत के नाम पर..

चलो हम गलत थे ये मान लेते है.. ऎ जिंदगी.. पर एक बात बता.. क्या वो शख्स सही था जो बदल गया इतना.. करीब आने के बाद!!

जो नजर से गुजर जाया करते हैं, वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं, कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते, बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।

उल्फत का यह दस्तूर होता है, जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है, दिल टूट कर बिखरता है इस क़द्र जैसे, कांच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है!

मोहब्बत की तलाश में, निकले हो तुम अरे ओ पागल… मोहब्बत खुद तलाश करती है… जिसे बर्बाद करना हो|

Zindagi Shayari In Hindi, English Status

Zindagi Shayari In Hindi, English Status

Click Here

Arrow