Heart Touching Shayari

Off-White Arrow

गुमनामी का अँधेरा कुछ इस तरह छा गया है, कि दास्ताँ बन के जीना भी हमें रास आ गया है।

मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर, उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया

गीली लकड़ी सा इश्क तुमने सुलगाया है, न पूरा जल पाया कभी न ही बुझ पाया है।

प्यार-ओ-उल्फ़त वफ़ा हमदर्दी मोहब्बत ये सब, कौन हैं दुनिया में अब इन को निभाने वाले।

तुमने कहा था हर शाम हाल पूछा करेंगे, बदल गए हो या तुम्हारे यहाँ शाम नहीं होती।

क्या हुआ अगर तन्हाई से दोस्ती कर ली मैंने, बेशक वो मुझसे बेवफाई तो नहीं करेगी।

वो मुस्कान थी कहीं खो गयी, और मैं जज्बात था कहीं बिखर गया।

अच्छे होते हैं बुरे लोग, अच्छा होने का दिखावा नहीं करते।

Heart Touching Shayari Hindi, English

Arrow