Urdu Shayari in Hindi 2 lines, Best Urdu Shayari Love 2022 June 13, 2022 by admin

Urdu Shayari Hindi 2 Lines, Love Urdu Shayari On Life, Urdu Latest 2021 Shayari Status In Hindi, Then Urdu Mohabbat Shayari in Words, Urdu Sad Shayari In English Image then Also Best Urdu Romantic Funny Shayari.

नमस्कार दोस्तों में आप सभी का स्वागत करता हु Maashayari.in और दोस्तों उर्दू शायरी दोस्तों इस आर्टिकल में आप सब के लिए बहुत ही बढ़िया 100 उर्दू शायरी हिंदी में लिखी हुई 2021 और मोहब्बत उर्दू शायरी फॉर व्हाट्सएप्प लेकर आया हूँ सबसे बेस्ट सदाबहार उर्दू शायरी हिंदी 2 लाइन पढ़ने के लिए इस आर्टिकल पर आखरी तक बने रहिये।

दोस्तो में आप के लिए बहुत ही बड़ी नवीनतम शायरी लेकर आया हूं दोस्तों आप सब क Mashayari में 2021 की नई शायरी पढ़ने को मिल जाएगी या दोस्तों आप को वेबसाइट है हिंदी सभी शायरी पढ़ने को मिल जाएगी दोस्तों वेबसाइट मैं सभी All शायरी को खोज कर सकते हैं मेरी वेबसाइट पर आने के लिए धन्यवाद।

हमे बिलकुल अप के लिए कुछ खास करना चाहिए इसलिए हम आपके लिए लेकर आए है उर्दू शायरी जिसे आप ग्रीटिंग कार्ड, व्हाट्सएप्प या फिर सोशल मीडिया पर लिख दे सकते है| यह बहुत ही शानदार और दिल को छू लेने वाली शायरी है.

Urdu shayari in Hindi 2 lines

खामोशियाँ कर दें बयां तो अलग बात है,
कुछ दर्द है ऐसे जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।💔💔💔💔

☺😘❤
आज बता रहा हूँ नुस्खा-ए-मौहब्बत ज़रा गौर से सुनो,
न चाहत को हद से बढ़ाओ, न इश्क़ को सर पे चढ़ाओ ।

कुछ बातें करके वो हमें रुला के चले गए,हम
 न भूलेंगे यह एहसास दिला के चले गए,आयेंगे
 कब वो अब तो यह देखना है उम्र भरबुझ रही
 है आग जिसे वो जला कर चले गए।😬🙂🙂🙂

उसने महबूब ही तो बदला है फिर ताज्जुब
 कैस दुआ कबूल नहो तो लोग खुदा तक
 बदल लेते है।💔💔💔

उसी तरह से हर एक ज़ख्म खुशनुमा देखे,
वो आये तो मुझे अब भी हरा-भरा देखे,
गुजर गए हैं बहुत दिन रफाकत-ए-शब में,
एक उम्र हो गई चेहरा वो चाँद-सा देखे।❣️❣️❣️

कुछ न पूछो ‘फ़िराक़’ अहद-ए-शबाब RAT है
 नींद है, कहानी है!!💞💞💞

दिल में जो आया वो लिख दियाकभी मिलन
 कभी जुदाई लिख दिया दर्द ऐ मोहब्बत के
 सिवा शायरी है तो है भी क्या,जान तेरे नाम
 पे ग़ज़ल ऐ ज़िंदगी लिख दिया।❣️❣️

क्या तारीफ़ करूँ आपकी बात की,
हर लफ्ज़ में जैसे खुसबू हो गुलाब की,
रब ने दिया है इतना प्यारा सनम,
हर दिन तमन्ना रहती है मुलाक़ात की।❣️❣️❣️

मैं शिकायत भी करूं तो क्यों करूं
यह तो किस्मत की बात है
मैं तेरे सोच में नहीं हूं कहीं और
तुम मुझे लफ्ज़ लफ्ज़ यादें है❤️🙂❣️❣️

तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।💔💔

कहा से लाऊ वो लफ्ज़ जो सिर्फ तुझे सुनाई दे
दुनिया देखे अपने चाँद को मुझे बस तू ही दिखाई दे
 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

काटे नहीं कटते लम्हे इंतज़ार केनजरें बिछाए
 बैठे हैं रस्ते पे यार के,दिल ने कहा देखे जो जलवे
हुस्न-ए-यार के लाया है उन्हें कौन फलक से उतार के।

💓💓💓💓💓💓💓💓
*मोहब्बत तेरी सूरत से नही तेरे किरदार से है*,
*शौक-ऐ-हूस्न होता तो बाजार चले जाते*
🌺🌺🌺🌺🌺🌺

बहके बहके ही 💃अंदाज-ए-बयां होते हैं,
आप जब होते हैं तो होश कहाँ होते हैं।🤗🌹
,💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕

Urdu shayari in Hindi 2022

🌸🌻🌹🏵️🌷🌱
हमसे भी पूछ लो कभी हाए-दिल हमारा,
कभी हम भी कह सकें की दुआ है आपकी..😇😇

💖💖हुस्न-ए-बेनजीर के तलबगार हुए बैठे हैं,
 उनकी एक झलक को बेकरार हुए बैठे हैं,
 उनके नाजुक हाथों से सजा पाने को,
 कितनी सदियों से गुनाहगार हुए बैठे हैं।💖

तुझसे ख़ुशी का ही नही गम का भी रिश्ता
 रखते है तुझे जिंदगी का हिस्सा बना कर
I]K, रखते है हमारा रिश्ता लफ़्ज़ों का
 मोहताज नही हुआ करता है  तुझसे तो रूह
 से रूह तक का रिश्ता रखते हैं।

💕💕💕💕💕💕💕
गुलाम बनकर जिओगे तो.कुत्ता समजक
 लात मारेगी तुम्हे ये दुनियनवाब बनकर
 जिओगे तो सलाम ठोकेगी ये दुनिया….
दम कपड़ो में नहीं  जिगर में रखो….
बात अगर कपड़ो में होती तो,सफ़ेद कफ़न में,
लिपटा हुआ मुर्दा भी सुल्तान मिर्ज़ा होता
🌸🌻🌹🏵️🌷🌱

तेरी धड़कन ही ‪ज़िंदगी‬ का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा,
मेरी ‪‎मोहब्बत‬ तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!😘😘😘
🌸🌻🌹🏵️🌷

हमें कोई ग़म नहीं था ग़म-ए-आशिक़ी से पहले,
न थी दुश्मनी किसी से तेरी दोस्ती से पहले,
है ये मेरी बदनसीबी तेरा क्या कुसूर इसमें,
तेरे ग़म ने मार डाला मुझे ज़िन्दग़ी से पहले।😘😘😘
🌸🌻🌹🏵️🌷🌱

अपनी उल्फ़त का यकीन दिला सकते नही।
सारी ज़िन्दगी आपको भुला सकते नही।
हम ओर क्या दे आपको प्यार के सिवा।
चाँद ओर तारे तो ला सकते नही।
🌸💗💗🌸🌸🌸💗

किसी ने पूछा इतना अच्छा कैसे लिख लेते हो
 मैने कहा दिल तोड़ना पड़ता है, लफ्जो को
 जोड़ने से पहले।❤️🥰😘❤️🥰😘😘

लबो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते
हैं, तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं।🥰🥰🥰😘🥰

Urdu  best shayari in hindi 2022

प्यार मोहब्बत तो सभी करते हैं, दर्द-ए -जुदाई से
 सभी डरते हैं, हम न तुमसे प्यार करते हैं ना ही
 मोहब्बत, हम तो बस तुम्हारी एक मुस्कराहट
के लिए तरसते हैं।🌹🌹🌹🌹🌹

बर्बाद कर दिया मुझे, तेरी इन मस्त निगाहों ने,
सौ साल जी लेते, अगर दीदार-ऐ-हुस्न तेरा ना
किया होता…❤️🌹❤️🌹❤️🌹❤️

#💓 दिल के अल्फ़ाज़ #📝 अधूरे अल्फाज़  जब
 भी आते हैं उसे छू के हवा के झोंके दिल के सोए
 हुए जज़्बात जगा देते हैंदूर-ओ-नज़दीक ये सन्नाटों
 के गहरे साए P[;’\/आने वाले किसी तूफ़ाँ का पता देते हैं।।

अब आएं या न आएं इधर पूछते चलो
 क्या चाहती है उनकी नज़र पूछते चलो
 हम से अगर है तर्क-ए-ताल्लुक तो क्या हुआ
 यारो कोई तो उनकी ख़बर पूछते चलो।
 💔🖤💔🖤

कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा
 खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा
 इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे
 कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा।
🖤💔

जिसको चढ़ जाय तेरे हशरत-ए-मोहब्बत का नशा,,,
फिर जहाँ में क्या नशा,कैसा नशा,किसका नशा….??

💞🌿💜❤️💛💚❣️🌹
हर बार इल्जाम लगा देते हो मोहब्बत का
कभी खुद से पूछा है कि इतनी खूबसूरत क्यूं हो
💞🌿💜❤️💛💚❣️🌹

कहता है कोई कुछ तो समझता है कोई कुछ
लफ़्ज़ों से जुदा हो गए लफ़्ज़ों के मआनी

हर एक सांस पे एक अजीब सा फसाना है ,
इस दिल-ए-बाजार मे,हर शख्स एक उम्दा
खरीददार है “……..

जज्बातो में बहकर खुद को किसी के अधीन मत कीजिए…
खुदा और खुद के इलावा किसी पर यकीन मत कीजिए

*💕ना आँखों से छलकते हैं, ना कागज पर उतरते हैं…!!*
💞 कुछ लफ्ज ऐसे होते हैं, जो तुम और मैं ही समझते हैं…!!!!

आंधी चली थी कल रात इल्ज़ामों की ,
सुबह रिश्ता  बिखरा बिखरा सा मिला…🔥

तबीयत आज फिर खराब है मेरी मुर्शीद…❤️
लगता है किसी ने देख कर माशाअल्लाह नहीं क

बे सबब आ जाओ इबादत का सिला दे दो
उम्मीद  के  चिरागों को  फिर  से  जिला दो

मैं परोसती रोज एहसासों को तुम्हारे लिए
दो फूल ही अपनी मेहरबानी  के खिला दो

मेरी सोच कैद  है तुम्हारी बन्दगी  में सांवरे
उम्रभर की  सजा  अपने  कफ़स  दिला दो

तिश्न  निगाहें  दीदार  की  मुन्तजिर कान्हा
दरिया ए दर्श  से इन निगाहों  को पिला दो
❤️❤️❤️❤️❤️❤️

दुनिया-ए-तसव्वुर हम आबाद नहीं करते;
याद आते हो तुम ख़ुद ही हम याद नहीं करते!

 _नहीं मोहताज में दुनिया  का एक तेरे सिवा या रब,
_मेरे सज्दे कुबूल कर ले मेरी सांस टूटने से पहले,_
*_❥───────•✏•───────❥_*

आगाज़ ना कर अपने होने का…!!हम तो हर
लम्हे में, तेरे ही तसव्वुर में जीते है…!!!!

लफ़्ज़ों में ज़ाहिर करूँ तो मेरी ख़्वाहिश की
तोहीन होगी !!तू मेरी रूह में उतर के समझ ले ,,
मेरी हसरतों को …

urdu whatsaap status shayari in hindi trend

मेरे हर अल्फाज में हम तुम्हें लिखते हैं,
बेहद खूबसूरत अंदाज में हम तुम्हें लिखते हैं,
शायद इसीलिए दीवाने हैं लोग हमारे शब्दों के…..😘
क्योंकि उनमें पिरोकर हम तुम्हें लिखते हैं।

हम उस से थोड़ी दूरी पर हमेशा रुक से जाते हैं;
न जाने उस से मिलने का इरादा कैसा लगता है;
मैं धीरे धीरे उन का दुश्मन-ए-जाँ बनता जाता हूँ;
वो आँखें कितनी क़ातिल हैं वो चेहरा कैसा लगता है।
🍀🍀🍀🍀🍀🍀❤❤❤

रात की चांदनी से मांगता हु सवेरा😊
फूलों की चमक से मांगता हु रंग गहरा🦋
दौलत शोहरत से ताल्लुख़ नहीं है मेरा💫
मुझे चाहिए हर सुबह में बस साथ तेरा💑 P[;’\/

#💓 दिल के अल्फ़ाज़ #📝 अधूरे अल्फाज़
हक़ीक़त ये है हम क्या उठ गए हैं  वफ़ा
 दुनिया से रुख़्सत हो गई है\ग़म-ए-जानाँ
 में जब से मुब्तला हूँग़म-ए-दौराँ से फ़ुर्सत हो गई है।।

#💓 दिल के अल्फ़ाज़  #📝 अधूरे अल्फाज़ तय हो
 चुकीं शिकस्त-ए-तमन्ना की मंज़िलें अब इस के
बाद गिर्या-ए-बे-इख़्तियार है।उस बेवफ़ा से कर के
 वफ़ा मर-मिटे यारो इक क़िस्सा-ए-तवील का ये
 इख़्तिसार है।।

आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते;होंठों
से हम कुछ कह नहीं सकते;कैसे बयाँ करें हम
यह हाल-ए-दिल आपको;कि तुम्हीं हो जिसके
 बगैर हम रह नहीं सकते।
☘️☘️❤❤❤☘️❤❤

मोत भी आती नहीं साग  नाकाम मुहब्बत होती हैं ||
ये मनाते हैं जश्न-ए-कामयाबी बरबाद मुहब्बत रोती हैं ||🥺🥺💔💔

हम उस से थोड़ी दूरी पर हमेशा रुक से जाते हैं;
न जाने उस से मिलने का इरादा कैसा लगता है;
मैं धीरे धीरे उन का दुश्मन-ए-जाँ बनता जाता हूँ;
वो आँखें कितनी क़ातिल हैं वो चेहरा कैसा लगता है।
🌺🍁🌺🌺🍁🌺🍁🌺🍁

❤❤मिल रहे होन खो रहे हो तुम,
❤❤दिन-ब-दिन बेहद दिलचस्प हो रहे हो तुम..!!

समझता ही नहीं वो मेरे अलफ़ाज़ की गहराई
मैंने हर लफ्ज़ कह दिया जिसे मोहब्बत कहते ह
😍😍🥰🥰👩‍❤️‍👨👩‍❤️‍👨👩‍❤️‍👨

अब ना ही रोक ए वाइज़ मुझे मयख़ाने जाने से,
मुहोब्बत नामका लजीज गुनाह किया हैं मैंने।😘😘

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।👩‍❤️‍👨😍😍

कहने देती नहीं कुछ मुँह से मोहब्बत मेरी लब पे
 रह जाती है आ आ के शिकायत मेरी -दाग़ देहलवी
😍😍😍😍😍

कैसे कहें कि तुझ को भी हम से है वास्ता कोई तू ने
तो हम से आज तक कोई गिला नहीं किया -जौन एलिया

😕😕❤️❤️❤️
हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।🙂🙂🙂

कोइ इस दर्द-ए-दिल की दवा ला दो मुझे,
किसी पे ऐतबार न करूँ वो हुनर सिखा दो मुझे,
वैसे मैं हर एक खेल का शौक रखता हूँ,
दिलों से खेलना भी कोई सिखा दो मुझे।💔💔💔

शीशा-ए-जाम छलका,पैमाना टूट कर बिखर गया ||
ए खुदा उनसे नज़र मिली,मेरा हुस्न खिल कर निखर
 गया ||👨‍❤️‍👨👨‍❤️‍👨👨‍❤️‍👨

Leave a Reply