Tera Intezaar Shayari Hindi 2 Lines, Intezaar Shayari Urdu In English April 1, 2021 by admin

intezaar shayari In Hindi, Urdu English For 2 Lines Then Tere intezaar shayari 2 line And Aapka Raat Bhar intezaar shayari For girlfriend, Also Here intezaar shayari gulzar Gujarati Image Rekhta For Whatsapp Sms Shayari On Love, Sad intezaar shayari Then intezaar khatam hua shayari, aane ka intezaar shayari.

Tera Intezaar Shayari

“यादें तेरी रख दी है सँभालकर
दूर कहीं इस दिल से निकाल कर
सब कुछ तो वापिस ले लिया है तुमने दूर जाकर
इन यादों को भी ले जाना किसी रोज़ आ कर |

“उसकी जरूरत उसका इंतजार और अकेलापन.
थक कर मुस्कुरा देता हूँ, मैं जब रो नहीं पाता. |

“रूठी हुई आँखों में इंतज़ार होता है ;
न चाहते हुए भी प्यार होता है ;
क्यों देखते हैं हम वो सपने ;
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतज़ार होता है |

“नहीं करता इज़हारे-ऐ-इश्क़ वो
पर रहता है मेरे करीब है वो
देखूँ उसकी आँखों में तो शर्मा जाता है वो
हाय मेरा यार भी कितना कमाल है |

“फासलों ने दिल की क़ुर्बत को बढ़ा दिया
आज उस की याद ने बे हिसाब रुला दिया
उस को शिकायत है के मुझे उस की याद नहीं
हम ने जिस की याद में खुद को भुला दिया |

“हर आहट पर साँसें लेने लगता है,
इंतज़ार भी भला कभी मरता है।

“हमने तो उस शहर में भी किया है इंतज़ार तेरा,
जहाँ मोहब्बत का कोई रिवाज़ न था..|

“किश्तों में खुदकुशी कर रही है ये जिन्दगी,
इंतज़ार तेरा…मुझे पूरा मरने भी नहीं देता।

“उसकी जरूरत उसका इंतजार और अकेलापन.
थक कर मुस्कुरा देता हूँ, मैं जब रो नहीं पाता.|

“आपसे दूर रेहके भी आपको याद किया हमने,
रिश्तों का हर फ़र्ज़ अदा किया हमने,
मत सोचना की आपको भुला दिया हमने,
आज फिर सोने से पहले आपको याद किया हमने. 😭 💔 😢 “

tera intezaar shayari
tera intezaar shayari

intezaar shayari In Hindi

“तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू
यह ही करते है , इसी की तमना है
हम से पूछिये इंतज़ार की स्याह -रात
जब वो गए थे फिर न लौट आने के लिए |

“दिल की आवाज़ को इज़हार-ऐ-इश्क़ कहते हैं
झुकी निगाहों को इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं
सिर्फ ज़ुबान से कहना ही इज़हार-ऐ-मोहब्बत नहीं होता
दबे होंटों की मुस्कराहट को भी इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं |

“इतना ऐतबार तो अपनी धड़कनों पर भी हमने न किया ;
जितना आपकी बातों पर करते हैं ;
इतना इंतज़ार तो अपनी साँसों का भी न किया ;
जितना आपके मिलने का करते हैं !

“यकीन ही उठ गया, इस राह को अब तो छोड़ दे ग़ालिब.
मगर …इश्क में रिवाज हो गया कि ,
इन्तजार कयामत तक होता है …..|

“कहीं वो आ के मिटा दें न इंतज़ार का लुत्फ़,
कहीं क़ुबूल न हो जाए इल्तिजा मेरी।”

“हाथ कि लकीरों पर ऐतबार कर लेना,
भरोसा हो तो किसी से प्यार कर लेना,
खोना पाना तो नसीबों का खेल है,
ख़ुशी मिलेगी बस थोड़ा इंतज़ार कर लेना।”

“इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा
यादें कटती हैं ले-ले कर नाम तेरा
मुद्दत से बैठे हैं ये आस पाले कि
आज आयेगा कोई पैगाम तेरा |

आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद,
आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह,
लाख ये चाहा कि उसे भूल जाये पर,
हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह ।💔 😢”

“यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
यह वो गुनाह है जो हम बार बार करते है …!!”

“दिल दिया ऐतबार की हद थी
जान दी यह मेरे प्यार की हद थी
मर गए लेकिन रही मेरी आँखें
यह तो तेरे इंतज़ार की हद थी |

intezaar shayari in english
intezaar shayari in english

Intezaar Shayari 2 Lines

“आँखों को इंतज़ार की भट्टी पे रख दिया,
मैंने दिये को आँधी की मर्ज़ी पे रख दिया।”

“दिल यह मेरा तुमसे प्यार करना चाहता हैं
अपनी मोहब्बत का इज़हार करना चाहता है
देखा हैं जब से तुम्हे ऐ मेरे हमदम
सिर्फ तुम्हारा ही दीदार करना चाहता है |

“झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के उनका इंतजार किया
वो जान ही न पाए जज्बात मेरे,
मैंने सबसे ज्यादा जिन्हें प्यार किया। |

“इशक के दरद ही कुछ ऐसे हैं…
लोग जान दे देते हैं मगर इंतजार नहीं करते।।”

“ज़ख़्म इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें,
हम खुद निशाना बन गए वार क्या करें,
मर गए हम मगर खुली रही ये आँखें,
इससे ज्यादा उनका इंतज़ार क्या करें।”

“उनकी आवाज़ सुनने को बेकरार रहते हैं,
शायद इसी को दुनिया में प्यार कहते हैं,
काटने से भी जो ना कटे वक्त,
उसी को मोहब्बत में इंतज़ार कहते हैं।

“यकीन ही उठ गया, इस राह को अब तो छोड़ दे ग़ालिब.
मगर इश्क में रिवाज हो गया कि
इन्तजार कयामत तक होता है  |

“तेरी आँखो में जहाँ देखता हूँ
मैं अपनी नज़रो से तुझे देखता हूँ
तुम ढूँढ रही होगी मुझको वहां
और मैं जमानो से तेरी राह यहाँ देख रहा हूँ |

“आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद;
आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह;
लाख ये चाहा कि उसे भूल जायेँ पर;
हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह।

“ऐ दिल किसी की याद में होता है बेकरार क्यों
जिस ने भुला दिया तुझे , उस का है इंतज़ार क्यों
वो न मिलेगा अब तुझे , जिस की तुझे तलाश है
राहों में आज बे-कफ़न तेरी बेवफ़ाई की लाश है |

intezaar shayari 2 lines
intezaar shayari 2 lines

Intezaar Shayari In English

“उन को चाहना मेरी मोहब्बत है
उन्हें कह न पाना मेरी मजबूरी है
वो खुद क्यों नही समझता मेरे दिल की बात को
क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है |

“याद तेरी जब भी आई वफ़ा रोती रही
आँखों से बरसा वो बादल के इन्तहा होती रही
तेरे मिलने की दुआ के लिए जब भी हाथ उठाए मैंने
मेरी इस मासूम ख्वाहिश पे न जाने क्यों दुआ रोती रही |

“आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद;
आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह;
लाख ये चाहा कि उसे भूल जायेँ पर;
हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह।”

“क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते हैं अपने भी पराये,
और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।”

“आँखें रहेंगीं शाम-ओ-शहर मुन्तज़िर तेरी,
आँखों को सौंप देंगे तेरा इंतज़ार हम।”

“गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!😢 😢  |

“यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
यह वो गुनाह है जो हम बार बार करते है …!!

“दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है
झुकी निगाह को इकरार कहते है
सिर्फ पाने का नाम मोहब्बत नहीं है यारो
कुछ खो कर पाने को भी प्यार कहते है |

“उसकी जरूरत उसका इंतजार और अकेलापन.
थक कर मुस्कुरा देता हूँ, मैं जब रो नहीं पाता.|

“इशक के दरद ही कुछ ऐसे हैं…
लोग जान दे देते हैं मगर इंतजार नहीं करते।।”

“उसकी जरूरत उसका इंतजार और अकेलापन.
थक कर मुस्कुरा देता हूँ, मैं जब रो नहीं पाता.|

“हमने तो उस शहर में भी किया है इंतज़ार तेरा,
जहाँ मोहब्बत का कोई रिवाज़ न था..|

“खबर नहीं मुझे यह जिन्दगी कहाँ ले जाए;
कहीं ठहर के मेरा इंतज़ार मत करना।”

intezaar shayari image
intezaar shayari image

Aapka Raat Bhar Intezaar Shayari

“हया के परदे में वो इज़हारे -ऐ -इश्क़ नहीं करता
जब चाहते है उसे हाल-ऐ-दिल सुनाना
आ जाता है हमारे बीच हया का पर्दा
इसलिए वो इक़रार-ऐ-इश्क़ नहीं करते |

“हर घडी तेरा दीदार किया करते हैं
हर ख्वाब में तुझसे इज़हार किया करते हैं
दीवाने हैं तेरे हम यह इक़रार करते हैं
जो हर वक़्त तुझसे मिलने की दुआ किया करते हैं”|

“इश्क़ वही है जो हो एकतरफा हो
इज़हार-ऐ-इश्क़ तो ख्वाहिश बन जाती है
है अगर मोहब्बत तो आँखों में पढ़ लो
ज़ुबान से इज़हार तो नुमाइश बन जाती है”|

“हमने ये शाम चिरागों से सजा रखी है,
आपके इंतजार में पलके बिछा रखी हैं,
हवा टकरा रही है शमा से बार-बार,
और हमने शर्त इन हवाओं से लगा रखी है।”

“तुझे भूले ,तेरी यादो को न भुला पाए
किसी से न हारे थे , एक तुझसे हार गए
तेरी यादों में ऐसे खोये ,किसी को याद न कर पाए
तूने मुझे इस कदर छोड़ा के हम किसी के न हो पाए”|

“जी भर गया है तो बता दो….
हमें इनकार पसंद है….
इंतजार नहीं…!”

One thought on “Tera Intezaar Shayari Hindi 2 Lines, Intezaar Shayari Urdu In English”

Leave a Reply